मेट गाला 2024′ में नजर आईं आलिया भट्ट, हुई फैशन और संस्कृति दोनों की प्रशंसा

बॉलीवुड सेंसेशन आलिया भट्ट ने न्यूयॉर्क शहर में मेट्रोपॉलिटन म्यूजियम ऑफ आर्ट में आयोजित प्रतिष्ठित मेट गाला 2024 में उपस्थित होकर दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया और वैश्विक दर्शकों का ध्यान आकर्षित किया। प्रसिद्ध सब्यासाची द्वारा डिज़ाइन किए गए एक सुंदर फूलों वाली साड़ी में आलिया का लुक शानदार था, जिसमें कुशल कारीगरी की झलक दिखी। इस साड़ी की कढ़ाई हाथों से की गई थ, इसमें खूबसूरत पत्थर, कांच के मोती और रेशम का फीता लगा था, जो भारतीय हस्तकला की उत्तमता को प्रदर्शित करता था।

हालांकि, केवल शानदार पोशाक ही नहीं थी जो दर्शकों और फैशन प्रेमियों का ध्यान आकर्षित कर रही थी। सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं ने तेजी से आलिया के चेहरे पर पारंपरिक ‘काला टीका’ भी देखा, जो बुरी नज़र से बचाव के लिए कान के पीछे लगाया जाता है। यह प्राचीन भारतीय प्रथा उनके शानदार लुक में एक सांस्कृतिक महत्व जोड़ती थी, जिससे प्रशंसकों का  गहरा संबंध था।

‘काला टीका’ देख प्रशंसकों ने बड़ी सराहना की और आलिया द्वारा इस प्रथा का पालन करने पर इसे सुंदर और अर्थपूर्ण भी माना। कई लोगों के लिए, यह न केवल आलिया के सांस्कृतिक मूलों से उनके संबंध का प्रतीक था, बल्कि मेट गाला के शानदार समारोह के बीच सुरक्षा और सकारात्मकता का प्रतीक भी था।

प्रशंसकों ने सोशल मीडिया पर आलिया के लुक के प्रति अपनी आश्चर्य और प्रेम व्यक्त किया, जिसमें ‘काला टीका’ के महत्व पर टिप्पणियां आई। एक प्रशंसक ने सुंदर ढंग से कहा, “उसके कान के पीछे वह काला टीका इतना भारतीय है क्योंकि अब पूरा विश्व उस पर नज़र गड़ाए हुए है,” जो कि कई लोगों द्वारा साझा किए गए भाव को व्यक्त करता है।

इसके अलावा, आलिया की पोशाक केवल एक फैशन स्टैट्मन्ट ही नहीं थी, बल्कि “The Garden of Time” थीम को फलित भी करता है। 163 कारीगरों की एक टीम द्वारा बनाई गई यह साड़ी, अक्षयता और टिकाऊपन की अवधारणा को प्रतीकात्मक रूप से दर्शाती थी। खुद आलिया ने इस साड़ी के बनाने की प्रक्रिया पर अपने विचार साझा किए, और हर छोटे-से-छोटे डीटेल में लगी मेहनत और समर्पण के लिए कारीगरों का आभार भी व्यक्त किया।

अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में, आलिया ने इस भव्य साड़ी को बनाने के सफर पर ज़ोर दिया, और उन कारीगरों की प्रशंसा की जिन्होंने अपना जुनून और कौशल इसमें डाला था। यह पोशाक न केवल कलात्मक उत्कृष्टता का प्रतीक था, बल्कि सांस्कृतिक विरासत और अक्षय सौंदर्य का भी जश्न मनाती थी।

आलिया भट्ट का मेट गाला 2024 में उपस्थित होना न केवल फैशन जगत को मंत्रमुग्ध कर गया, बल्कि आधुनिक संदर्भ में पारंपरिक प्रथाओं की सुंदरता और महत्व को भी याद दिलाया। अपनी पोशाक के माध्यम से, उन्होंने भव्यता एवं सुंदरता को और अपनी भारतीय जड़ों से गहरे संबंध को दर्शाया, जिससे उन्होंने वैश्विक मंच पर एक अमिट छाप छोड़ी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *