कॉमनवेल्थ  घोटाला- एक परिचय

आज के डिजिटल जगत में, जहां सूचना की संख्या बहुत अधिक है, वहीं  जालसाजी करने वालों के नए-नए तरीके भी सामने आ रहे हैं. इन्हीं में से एक है कॉमनवेल्थ घोटाला है . इस लेख में हम आपको इस घोटाले से अवगत काराने  साथ ही इससे बचने के उपाय भी बताएंगे.

कॉमनवेल्थ घोटाला क्या है?

कॉमनवेल्थ घोटाले में जालसाज खुद को किसी शासकीय संस्था या बड़े संगठन का एजेंट बताते हैं. वे अक्सर ईमेल, फोन कॉल या सोशल मीडिया के माध्यम सेसंपर्क करते हैं और झूठे वादे करके लोगों को अपनी जाल मेंफंसाते हैं. ये वादे सामान्यतः  भारी भरकम रकम जीतने या सरकारी योजनाओं का फायदा दिलाने से जुड़े होते हैं. इसके लिए वे पीड़ित से कुछ रकम जमा करने की मांग करते हैं, जिसे प्रसंशोधन शुल्क  या रजिस्ट्रेशन शुल्क  बताया जाता है.

कॉमनवेल्थ घोटाले की पहचान कैसे करें?

अवास्तविक वादे : अगर कोई आपको बिना किसी मेहनत के अचानक ईनाम या धन प्राप्ति का वादा करता है, तो  आप सतर्क हो जाएं।

आप पर दबाव बनाना : जालसाज जल्दबाजी में फैसला लेने के लिए दबाव बनाते हैं  वेबसाइट या ईमेल पते से संपर्क : किसी सरकारी संस्था की ओर से होने वाले संवाद आमतौर पर आधिकारिक वेबसाइट या ईमेल पते से ही किए जाते हैं.

अग्रिम शुल्क की मांग : कोई भी सरकारी योजना या लॉटरी में भाग लेने के लिए अग्रिम शुल्क नहीं लिया जाता है.

कॉमनवेल्थ घोटाले से कैसे बचें?  

अनजान नंबरों या ईमेल से सावधान रहें : किसी भी अनजान नंबर या ईमेल से आई जानकारी पर आंख मूंदकर भरोसा न करें.

अपनी व्यक्तिगत जानकारी साझा करने में सावधानी बरतें : किसी को भी अपनी बैंक डिटेल्स, आधार नंबर या पासवर्ड जैसी संवेदनशील जानकारी फोन या ईमेल पर न दें.

सरकारी योजनाओं की जानकारी आधिकारिक वेबसाइट से लें : किसी भी सरकारी योजना से जुड़ी जानकारी उसके आधिकारिक वेबसाइट से ही प्राप्त करें.

संदेह होने पर अधिकारियों से संपर्क करें : अगर आपको किसी भी संचार पर संदेह होता है, तो संबंधित विभाग के अधिकारियों से संपर्क करें.

निष्कर्ष 

कॉमनवेल्थ घोटाला सहित किसी भी तरह के ऑनलाइन फ्रॉड से बचने के लिए सतर्क रहना और किसी भी अंजान व्यक्ति या संस्था पर आंख मूंदकर भरोसा न करना ही सबसे कारगर उपाय है. अगर आप कभी किसी धोखाधड़ी के जाल में फंसते हैं, तो तुरंत पुलिस में शिकायत दर्ज कराएं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *